रस्सी कूदने का तरीका, फायदे-नुकसान और ध्यान रखने योग्य सावधानियां | How to do Skipping Rope, Pros and Cons and Precautions to keep in Mind

बचपन का पसंदीदा खेल होता था रस्सी कूदना। यह लगभग सबको पसंद होता था और बचपन में तो आपस में शर्त लगती थी कौन सबसे ज्यादा रस्सी कूदेगा। हालांकि आज भी रस्सी कूदने का क्रेज लोगों में कम नहीं हुआ है। रस्सी कूदना सिर्फ एक गेम ना हो कर के आपके फिटनेस का मंत्र है।

अपने आप को फिट और तंदुरुस्त रखने के लिए किसी भी तरह की भागदौड़ की जरूरत नहीं है आप केवल रस्सी कूदने की आदत बना कर अपने आप को फिट और तंदुरुस्त रख सकते हैं। रस्सी कूदने से आपकी पूरी बॉडी का वर्कआउट हो जाता है और इसकी सबसे खास बात यह है कि यह आप कहीं भी कर सकते हो। 15 से 20 मिनट रस्सी कूदने से आप बहुत सारी कैलोरी बर्न कर सकते हैं। रस्सी कूदना वजन कम करने के लिए फायदेमंद है और साथ ही हाइट को बढ़ाने में भी सहायक है।

फिजिकल वर्क आउट एंड एक्सरसाइज हर व्यक्ति के लिए बहुत जरूरी है परंतु आज के इस दौर में वक्त की कमी की वजह से लोग अपने फिटनेस पर ज्यादा ध्यान नहीं दे पाते हैं इस वजह से शरीर में कई तरह की समस्याएं उत्पन्न होने लगती है। लेकिन इस समस्या का एक सीधा सिंपल और इफेक्टिव उपाय है रस्सी कूदना।

आज हम यहां पर बात करेंगे रस्सी कूदने के फायदे और उससे होने वाले नुकसान के बारे में…

Table of Contents

रस्सी कूदने के 8 फायदे | 8 Benefits of Jumping Rope | Rassi Kudne ke Faide

1. हृदय के लिए फायदेमंद | Beneficial for heart :

हृदय हमारे शरीर का एक महत्वपूर्ण अंग है यह हमारे शरीर में धमनियों के द्वारा रक्त संचार का काम करती है परंतु आजकल अनियमित खानपान और एक्सरसाइज, वर्कआउट ना करने की वजह से हृदय संबंधित समस्याएं बहुत ज्यादा होने लगी है। रस्सी कूद कर हम अपने हृदय को स्वस्थ रख सकते हैं रस्सी कूदने से हृदय की कार्य क्षमता को बढ़ा सकते हैं। रस्सी कूदने से हृदय की पंप करने की क्षमता बढ़ती है जिससे हमारे ब्लड को स्पीड के साथ सरकुलेट करके पूरे शरीर में पहुंचाता है और ऐसा होने से हार्ट स्ट्रोक और हृदय से जुड़ी अन्य समस्याओं को दूर भगाया जा सकता है।

 

2. वजन घटाने और कैलोरीज बर्न करने में सहायक | Aids in Weight Loss and Burning Calories :

आजकल की दिनचर्या में खानपान के द्वारा हम अपने शरीर में कैलोरी की मात्रा को इकट्ठा करने लग जाते हैं और इसी वजह से हमारा वजन बढ़ना शुरू हो जाता है। अगर आप अपना वजन कम करना चाहते हैं तो रस्सी कूदना एक बहुत अच्छा विकल्प है। रस्सी कूदने से हम अपने शरीर की कैलोरी को आसानी से बर्न कर सकते हैं। एक अध्ययन में पाया गया कि अगर नियमित रूप से 15 से 20 मिनट तक रस्सी कूदने से आप 500 ग्राम से 10 किलोग्राम तक वजन कम कर सकते हैं। पेट की चर्बी को कम करना बहुत मुश्किल काम होता है परंतु स्किपिंग रोप से आप अपने पेट की चर्बी को आसानी से कम कर सकते हैं।

 

3. बोन डेंसिटी में सुधार | Improve Bone Density :

आजकल बहुत सारे लोग ओस्टियोपोरोसिस यानी हड्डियों के कमजोर होने की समस्या से ग्रसित है। ऐसे में जरा सा झटका लगने पर भी हड्डी में फैक्चर हो जाता है। एक शोध में पाया गया कि नियमित रूप से रस्सी कूदने का अभ्यास करने वाले की बोन डेंसिटी रस्सी ना कूदने वालों की तुलना में काफी अच्छी है।

 

4. जोड़ों के दर्द में लाभदायक | Beneficial in Joint Pain :

बढ़ती उम्र और कम फिजिकल एक्टिविटी से अक्सर लोगों में जोड़ो का दर्द देखा गया है। रोजाना नियमित रूप से रस्सी कूदने से आपके घुटने, टखने, कंधे, कुले और शरीर के हर जॉइंट में एक मूवमेंट होता है। और शरीर के हर जॉइंट में लचक पैदा होती है जिससे जोड़ों और जॉइंट के दर्द में काफी आराम मिलता है। नियमित रूप से रस्सी कूदने वालों में भविष्य में एक उम्र के बाद में जोड़ों का दर्द बहुत कम होता है।

 

5. मानसिक स्वास्थ्य के लिए लाभदायक | Beneficial to Mental Health :

आज के समय में हर कोई किसी न किसी रूप से मानसिक रूप से तनावग्रस्त रहता है ऐसे में अपनी दिनचर्या में कुछ शारीरिक गतिविधियों को शामिल करके अपने मस्तिष्क से डिप्रेशन और अवसाद को दूर कर सकते हैं। एक अध्ययन में पाया गया है कि जो व्यक्ति शारीरिक रूप से एक्टिव होते है उनमें मानसिक तनाव व अवसाद के लक्षण काफी कम पाए जाते हैं। इसलिए रस्सी कूदना मानसिक स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद है।

 

6. हाइट बढ़ाने में सहायक | Help in Increasing Height : 

लंबाई बढ़ाने के लिए रस्सी कूदना बहुत लाभदायक है क्योंकि रस्सी कूदने से पीठ पर, रीड की हड्डी, हाथों की मसल्स और पूरे शरीर के जॉइंट्स पर एक साथ खींचाव उत्पन्न होता है जिससे कुछ नई मसल्स भी बनती है और मसल्स स्ट्रेच होती है। और यही हमारे हाइट बढ़ने के मुख्य कारण होते हैं हाइट बढ़ाने के लिए सही डाइट का लेना भी जरूरी है आपको अपने खान-पान में प्रोटीन और कैल्शियम शामिल करना चाहिए जो हड्डियों को मजबूती प्रदान करता है।

 

7. पल्मोनरी में सुधार | Improvement in Pulmonary :

अनियमित खानपान और लाइफस्टाइल की वजह से स्वास्थ्य संबंधित समस्याएं उत्पन्न होने लगती है। पल्मोनरी एक प्रकार की धमनियां है। इसमें समस्या होने पर फेफड़ों से जुड़ी बीमारियों को उत्पन करता है जिससे पूरी श्वास प्रणाली प्रभावित होती है। ऐसे में पलमोनरी धमनियों को स्वास्थ्य रखना बहुत जरूरी है इसके लिए रस्सी कूदना बहुत ही इफेक्टिव उपाय हैं।

 

8. स्टेमिना बढ़ने में सहायक | Helps in Increasing Stamina :

एक उम्र बढ़ने और फिजिकल कम एक्टिव रहने की वजह से लोगों का स्टेमिना बहुत कम हो जाता है, जिसकी वजह से बहुत जल्दी ही थक जाते है। रस्सी कूदने से आपका शरीर सुचारू रूप से एक्टिव हो जाएगा जो आपको बिना थकाए आपके सारे बॉडी पार्ट को एक्टिव करता है। 

 

रस्सी कूदने के अन्य फायदे | Other Benefits of Jumping Rope :

  1. अपने आप को फिट और एक्टिव रखने का सबसे आसान तरीका रस्सी कूदना है यह अन्य एक्सरसाइज के मुकाबले बहुत ज्यादा कैलोरी बर्न करता है।
  2. रस्सी कूदने से हमारे पैर और जांघ मजबूत होती है।
  3. रस्सी कूदने से शरीर की अतिरिक्त वसा खत्म होकर वजन को नियंत्रित होती करती है।
  4. इससे शरीर के हारमोंस संतुलित रहते है, जिससे अवसाद, तनाव जैसी समस्या नहीं होती है।

 

रस्सी कूदने का तरीका | how to Jump Rope | Rassi Kudne Ka Tareeka

रस्सी कूदना ना केवल बच्चों का एक मनोरंजन खेल है बल्कि यह एक उम्र के बाद अपने आप को तंदुरुस्त रखने का सबसे आसान और असरदार एक्सरसाइज है। रस्सी कूदने के लिए समतल जगह का चुनाव करें अगर आप रस्सी कूदने की शुरुआत कर रहे हैं तो आपको सबसे पहले आसान तरीकों से शुरुआत करनी चाहिए बाद में आप इसे और अलग तरीकों से भी कूद सकते हैं।

 

1. दोनों पैरों से रस्सी कूदना | Jump Rope with Both Feet : 

रस्सी कूदने का सबसे पहला और आसान तरीका है दोनों पैरों से रस्सी कूदना। इसके लिए आपको सबसे पहले सीधे खड़े होना है और अपने हाथों से रस्सी को पीछे से आगे की ओर सर के ऊपर से लेकर आना है और फिर दोनों पैरों को एक साथ उछाल कर नीचे से रस्सी निकालनी होती है। नई शुरुआत करने वाले लोगों के लिए यह तरीका बहुत ही आसान और सरल है।

 

2. एक पैर से रस्सी कूदना | Jump Rope with One Foot :

अगर आप लंबे समय से रस्सी कूद रहे हैं तो आप एक पैर से रस्सी कूदने के तरीके को भी आजमा सकते हैं इस तरीके में रस्सी कूदने के लिए अपने एक पैर को पूरी तरह से हवा में ही रखना होता है और इसके बाद इस पैर को हवा में रखते हुए ही रस्सी कूदनी होती है।

 

3. क्रॉस स्किपिंग | Cross Skipping : 

क्रिस क्रोस स्किपिंग उसे ही करना चाहिए जो रस्सी कूदने में काफी अनुभव रखते हैं इस प्रक्रिया में रस्सी कूद के समय अपने दोनों हाथों को सामने की ओर लाकर क्रॉस करना होता है और ऐसे में रस्सी भी हाथों के साथ साथ घूम जाती है यह प्रक्रिया आप तभी आजमाएं जब आप रस्सी कूदने में काफी अनुभव प्राप्त कर लिया हो इस प्रक्रिया में जरा सी भूल से आप को गंभीर चोट लग सकती है।

 

रस्सी कूद के समय ध्यान रखने वाली सावधानियां | Precautions to be Taken While Jumping Rope :

  1. रस्सी कूदने के लिए एक अच्छी उत्तम गुणवत्ता वाली रस्सी का ही प्रयोग करें। जिससे रस्सी के टूटने की संभावना काफी कम हो जाती है।
  2. रस्सी कूदने के लिए समतल और खुले क्षेत्र का चुनाव करें छोटी सी जगह में रस्सी कहीं फस जाए तो चोट लगने की संभावना ज्यादा रहती है।
  3. रस्सी कूदना एक तेज गति वाला व्यायाम है इसके लिए रस्सी कूदने से पहले अपने आप को  स्कीपिंग से पहले स्ट्रैचिंग की एक्सरसाइज करनी जरूरी है।
  4. महिलाओं को रस्सी कूदने से पहले उच्च गुणवत्ता की स्पोर्ट्स ब्रा पहनी चाहिए। जिससे स्किपिंग के दौरान स्तन ऊपर नीचे ज्यादा नही हिलेंगे। बिना स्पोर्ट्स ब्रा के स्किपिंग करने से स्तन शिथिल हो सकते है। इसलिए कोई भी एक्सरसाइज करने से पहले स्पोर्ट्स ब्रा जरूर पहना चाहिए।

 

रस्सी कूदने का सही समय | Right Time to Jump Rope :

रस्सी कूदना एक प्रकार की एक्सरसाइज है जैसे हर व्यायाम को करने का एक उचित समय होता है वैसे ही रस्सी कूदने का समय निर्धारण करना जरूरी है। रस्सी कूदने के समय सबसे जरूरी इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि खाना खाने के तुरंत बाद रस्सी ना कूदे। सबसे उत्तम समय सुबह खाली पेट रस्सी कूदना है बाकी आप इसे दिन भर में कभी भी कर सकते हैं बस इस बात का ख्याल रखें खाना खाने के बाद में रस्सी ना कूदे।

 

ऐसे लोगों को रस्सी नहीं कूदनी चाहिए | Such People should not Jump Rope :

रस्सी कूदना एक फायदेमंद व्यायाम है परंतु इसका मतलब यह नहीं है कि यह हर अवस्था में आपको फायदा ही पहुंचाएगा। अपनी शारीरिक स्थिति क्षमता के आधार पर रस्सी कूदने का निर्णय लेना चाहिए।

  1. हार्ट से जुड़ी बीमारी से ग्रसित लोगों को रस्सी नहीं कूदनी चाहिए।
  2. उच्च रक्तचाप की समस्या से जूझ रहे लोगों को रस्सी कूदने से बचना चाहिए।
  3. अगर आपको अस्थमा और सांस लेने से संबंधित कोई समस्या है तो आपको रस्सी नहीं कूदनी चाहिए।
  4. किसी भी तरह के ऑपरेशन या किसी भी तरह की सर्जरी होने पर रस्सी कूदना नहीं चाहिए ऐसे समय में डॉक्टर की सलाह पर ही रस्सी कूदनी चाहिए।

 

रस्सी कूदने के नुकसान | Disadvantages of Jumping Rope : 

हर एक्सरसाइज और व्यायाम के अपने फायदे और नुकसान होते हैं रस्सी कूदना बहुत फायदेमंद है परंतु उसके कुछ नुकसान भी हो सकती है जिनके बारे में हम नीचे बात करेंगे

  1. ज्यादा रस्सी कूदने से आपके पैरों के तलवे और उंगलियों में दर्द हो सकता है।
  2. रस्सी कूदने में लापरवाही रखने से पैर में मोच आने की संभावना बहुत ज्यादा होती है।
  3. रस्सी कूदने के समय रस्सी में पैर के उलझने से अथवा रस्सी के टूटने से चोट लगने की संभावना अधिक रहती है।
  4. ज्यादा रस्सी कूदने से शरीर में थकावट महसूस हो सकती है।

 

Also Read it:

Leave a Reply

%d bloggers like this: